गुरुवार, 30 दिसंबर 2010

"NAYA SAAL"

"नया साल"
आम इंसान की जिंदगानी में भी,
करिश्मा क्यूँ नहीं होता,
साल आता है, हर साल,
पर नया नहीं होता..
वही चिंता है, रोटी की,
तड़प रोज़ी की,
ऱब इन पर भी मेहरबां क्यूँ नहीं होता...
दाल रोटी पर अब तक जो
गुज़र करता था
हाल ये है के वो भी 
अब नसीब नहीं होता....
साल नया तो अब दूर की बात रही,
रोज़ उठता तो है, मगर 
सवेरा तक नहीं होता......... 
आम इंसान की जिंदगानी में भी,
करिश्मा क्यूँ नहीं होता...............

22 टिप्‍पणियां:

  1. "नया साल"
    आम इंसान की जिंदगानी में भी,
    करिश्मा क्यूँ नहीं होता,
    साल आता है, हर साल,
    पर नया नहीं होता..

    bilkul sach
    kuchh nahi badalta
    sirf ek tareeekh
    aur fir waise hi saaree pareshani aur dukh..:)


    fir bhi mere aur se
    nav varsh ki subhkamnayen........

    उत्तर देंहटाएं
  2. साल नया तो अब दूर की बात रही,
    रोज़ उठता तो है, मगर
    सवेरा तक नहीं होता......

    बहुत कटु सत्य..आम आदमी के दर्द की बहुत भावपूर्ण प्रस्तुति..यही शुभकामना है कि नववर्ष आपके लिए मंगलमय हो ...

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपकी चिंता वाजिब है //
    नया वर्ष मंगलमय हो /

    उत्तर देंहटाएं
  4. कटु सत्य..आम आदमी के दर्द की बहुत भावपूर्ण प्रस्तुति

    उत्तर देंहटाएं
  5. हर पल यही है दिल की दुआ आपके लिए
    खुशियों भरा हो साल नया आपके लिए...
    नव वर्ष की अग्रिम शुभकामनाएं.

    उत्तर देंहटाएं
  6. आदरणीय ब्लागमित्र

    नमस्कार और नये साल की शुभकामनाऐं

    उत्तर देंहटाएं
  7. मुकेशजी
    कैलाशजी
    बबनजी
    संजयजी
    आप सभी ने मेरी रचना पर इतने रचनात्मक कमेंट्स देकर मेरा उत्साहवर्धन किया इसके लिए मैं आप सभी की ह्रदय से आभारी हूँ, आप सभी को व ब्लॉग जगत के सभी सदस्यों को मेरी ओर से नव वर्ष की हार्दिक हार्दिक शुभकामनायें...

    उत्तर देंहटाएं
  8. कटु सत्य..आम आदमी के दर्द की बहुत भावपूर्ण प्रस्तुति
    आपको और आपके परिवार को नव-वर्ष की शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  9. Yogendraji
    Sanjay Chourasiyaji
    Thanks.. &
    Happy New Year to u & Your Family...

    उत्तर देंहटाएं
  10. संध्या जी,
    नव वर्ष पर आपने आम आदमी के दर्द को कविता में ढाल कर अपने संवेदनशील हृदय का परिचय दिया है !
    आप को नव वर्ष २०११ की अनंत मंगल कामनाएं !
    -ज्ञानचंद मर्मज्ञ

    उत्तर देंहटाएं
  11. Gyanchandraji
    Bahut-bahut dhanyawad, blog par aapka swagat hai..
    आपको और आपके परिवार को नव-वर्ष की शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  12. आदरणीय sandhya sharma जी
    .आपको नव वर्ष 2011 की हार्दिक शुभकामनायें ...स्वीकार करें

    उत्तर देंहटाएं
  13. आप को सपरिवार नव वर्ष २०११ की ढेरों शुभकामनाएं|

    उत्तर देंहटाएं
  14. आपको नववर्ष 2011 मंगलमय हो ।
    एक बेहतरीन रचना ।
    काबिले तारीफ़ शव्द संयोजन ।
    बेहतरीन अनूठी कल्पना भावाव्यक्ति ।
    सुन्दर भावाव्यक्ति । साधुवाद ।
    satguru-satykikhoj.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  15. आपको और आपके परिवार को मेरी और से नव वर्ष की बहुत शुभकामनाये ......

    उत्तर देंहटाएं
  16. "WISHING U ALL A WONDERFUL NEW YEAR FILLED WITH PROSPERITY, HAPPINESS, PEACE, HARMONY, JOY, WONDER, GOOD HEALTH, BLESSINGS & LOVE...."

    उत्तर देंहटाएं
  17. आदरणीय संध्या जी
    सादर प्रणाम
    आपका शुक्रगुजार हूँ इस टिप्पणी के लिए ...आपने मुझे शतक के करीब पहुंचा दिया है ....अब देखते हैं की शतक कौन लगता है ...आपकी टिप्पणी पाकर मैं खुद को खुशनसीब समझ समझ रहा हूँ आशा है आप अपना मार्गदर्शन यूँ ही बनाये रखेगे ....बहुत बहुत आभार ....

    उत्तर देंहटाएं
  18. छिनता जा रहा मजबूर के मुंह का निवाला.
    भ्रष्टाचारियों का पेट है ना कभी भरने वाला.
    इसीलिये इनकी जिन्दगी में करिश्मा नहीं होता...

    मेरे ब्लाग पर पधारकर स्वास्थ्य-सुख को फालो करने के लिये आपका आभार.
    मित्रता के सिलसिले को बनाये रखने के लिये मैं भी आपके इस ब्लाग को फालो कर रहा हूँ ।

    मेरे अन्य ब्लाग नजरिया पर मेरा नया आलेख "उम्मीद पर कायम दुनिया" देखें और अपने महत्वपूर्ण विचारों से अवगत करावें । यदि आप अपने स्तर के अनुकूल समझें तो कृपया देश, दुनिया व समाज की विसंगतियों पर नये नजरिये से लिखे जाने वाले आलेखों को अपनी दृष्टि में बनाये रखने हेतु मेरे इस ब्लाग 'नजरिया' को फालो भी करके इसे अपनी नजरों में बनाये रख सकती हैं । धन्यवाद सहित...
    http://najariya.blogspot.com/

    नूतन वर्ष की अनेकों शुभकामनाओं सहित...

    उत्तर देंहटाएं
  19. केवल रामजी एवं सुशिल बाकलीवाल जी,आपने ब्लॉग पर आकार जो प्रोत्साहन दिया है उसके लिए आभारी हूं....सुशिल बाकलीवाल जी, आपका ब्लॉग पर स्वागत है ,यूँ ही अपना मार्गदर्शन देते रहिये ताकि और भी प्रगति कर सकूँ .

    उत्तर देंहटाएं
  20. सुन्दर अभिव्यक्ती. आम आदमी का दर्द..आभार

    उत्तर देंहटाएं