मंगलवार, 26 मार्च 2013

होली... संध्या शर्मा

होली के रंग आपके जीवन को नए हर्ष और उल्लास से भर दें. होली की बहुत-बहुत बधाई और ढेर सारी शुभकामनायें ....
(होली खेलें लेकिन जीवन दायिनी अमृत रुपी
जल की हर बूंद का महत्त्व समझें) 




मुट्ठी में रंग
मन में उमंग
कान्हा का प्यार
भीजे सिंगार 
मुरली की तान
ग्वालों का गान
मोहे सुन बावरिया होवन दे,
कान्हा संग होली खेलन दे... 

नीरज फुहार
आनंद अपार
उड़े अबीर गुलाल
अवनि आकाश लाल
गुंजन की माल
मयूर पंख भाल
मोहे श्याम रंग में रंगने दे,
कान्हा संग होली खेलन दे... 

देखो धूम मची
गोपियाँ नाच उठी 
रंगों की कली
खिली गली-गली
फैली सुगंध
बोले बाजूबंद
मोहे रंग केसर को घोलन दे,
कान्हा संग होली खेलन दे...

29 टिप्‍पणियां:

  1. खूबसूरत भजन है, होली की हार्दिक शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  2. वाह...
    बहुत सुन्दर रचना...
    आपको सहपरिवार होली की हार्दिक शुभकामनाएँ.....
    ;-)

    उत्तर देंहटाएं
  3. कौन रोकता है....
    खेलिए होली कान्हा संग....भीगिए प्रेम रंग में.

    सस्नेह
    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत बढ़िया प्रस्तुति ......
    आपको होली की हार्दिक शुभकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत उम्दा,खेलिए कान्हा संग होरी,,,, सराहनीय रचना,,
    होली की हार्दिक शुभकामनाए,,,,

    Recent post : होली में.

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत ही बढ़िया

    होली का पर्व आपको सपरिवार शुभ और मंगलमय हो!

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  7. कान्हा का प्यार
    भीजे सिंगार
    मुरली की तान
    ग्वालों का गान
    मोहे सुन बावरिया होवन दे,
    कान्हा संग होली खेलन दे...

    brj ki Holi ko jeevan karati hui rachana bahut achchhi lagi .....badhai Sandhya ji

    उत्तर देंहटाएं
  8. आपको और आपके परिवार को
    होली की रंग भरी शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  9. बढिया फागुनी रचना

    होली की ढेर सारी शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  10. क्या बात है ....बहुत ही खूबसूरत रचना

    काश! हम भी पुकार सकते

    सच्चे मन से कान्हा को

    खेलते उनके संग होली

    मगर करें क्या,

    तथाकथित सुख की चाह में

    भौतिक चीजों से भरने में

    लगे हैं झोली ......

    आप सभी को होली की हार्दिक बधाई .....

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत प्यारी कविता
    होली की हार्दिक शुभकामनाएँ....आपको भी शुभ होली

    उत्तर देंहटाएं
  12. देखो धूम मची
    गोपियाँ नाच उठी
    रंगों की कली
    खिली गली-गली
    फैली सुगंध
    बोले बाजूबंद
    मोहे रंग केसर को घोलन दे,
    कान्हा संग होली खेलन दे...

    होली की शुभकामना रचना बहुत खुबसूरत लगी . आपको बधाई .....

    उत्तर देंहटाएं
  13. होली की रंगों भरी शुभकामनायें >>>>>>

    उत्तर देंहटाएं
  14. होली की हार्दिक शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  15. होली की हार्दिक शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  16. बहुत कविता...
    होली की बहुत-बहुत शुभकामनाएं!

    उत्तर देंहटाएं
  17. होली की हार्दिक शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  18. होली की महिमा न्यारी
    सब पर की है रंगदारी
    खट्टे मीठे रिश्तों में
    मारी रंग भरी पिचकारी
    होली की शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  19. बहुत ही गहरे रंगों और सुन्दर भावो को रचना में सजाया है आपने.....

    उत्तर देंहटाएं
  20. बढ़िया प्रस्तुति :होली की शुभकामनायें
    latest post धर्म क्या है ?

    उत्तर देंहटाएं
  21. बहुत खूबसूरत रचना,होली की ढेरों शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  22. खुबसूरत रचना...शुभ होलिकोत्सव आपको...सपरिवार...

    उत्तर देंहटाएं
  23. भक्ति, श्रृंगार और प्रेम रस का सुंदर प्रयोग।

    उत्तर देंहटाएं
  24. होली के खुमार से लबरेज़ रचना ...वाह मज़ा आ गया .संध्याजी ..

    उत्तर देंहटाएं
  25. कान्हा के साथ होली खेलने का आनंद देती सुंदर रचना..

    उत्तर देंहटाएं
  26. रोचक होली गान......... देर से आपको होली की बधाई दे रहा हूँ। इस हेतु क्षमा प्रार्थी हूँ। इंटरनेट से कुछ दिन दूर था। आपको यह होली प्रतिदिन होलीमय अनुभव कराए, ऐसी कामना है।

    उत्तर देंहटाएं
  27. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  28. होली के रंग ओर कान्हा न हो संग ...
    ऐसा तो हो नहीं सकता ...
    बहुत मनभावन रचना ... होली की बधाई ...

    उत्तर देंहटाएं