रविवार, 30 जनवरी 2011

है भारत देश हमारा


" है भारत देश हमारा "
हर चीज़ जहाँ की प्यारी,
जहाँ चाहत के हैं पुजारी,
जहाँ वतन धर्म पर भारी,
है, प्रीत जहाँ की न्यारी,
जहाँ ग़ालिब की ग़ज़ल है,
जहाँ प्यारा ताजमहल है,
जहाँ फूलों का बिस्तर है,
जहाँ अम्बर की चादर है,
जहाँ दूर तलक सागर है,
जहाँ सुहाना हर मंज़र है,
जहाँ झरने और हवाएं,
गीत प्यार के गायें,
जहाँ सूरज की लाली है,
जहाँ चंदा की बाली है,
जहाँ मेंहंदी चूड़ी पायल,
जहाँ बिंदिया साड़ी काजल,
जहाँ पंछी भी इतराएँ,
जहाँ नदियाँ भी बलखायें,
जहाँ मंदिर भी मस्जिद भी,
जहाँ गिरिजा भी गुरूद्वारे भी,
जहाँ पूजी जाये गंगा,
जहाँ लहराए तिरंगा,
जो लगे जान से प्यारा,
है ऐसा देश हमारा......................    

24 टिप्‍पणियां:

  1. जहां दाल दाल पर सोने की चिड़िया करती है बसेरा वो भारत देश है मेरा .......देश प्रेम की भावना से भरी रचना
    ........प्रशंसनीय रचना बहुत बहुत बधाई......संध्या जी

    उत्तर देंहटाएं
  2. जो लगे जान से प्यारा,
    है भारत देश हमारा
    दिल को छू रही है यह कविता सत्य की बेहद करीब

    उत्तर देंहटाएं
  3. pahli nazar men ye kavit tukbandi bhar lagti hai...lekin jaise jaise aage padhte jao..desh pyara lagne lagta hai aur kavita bhi pyari lagne lagti hai....likhti rahen....acchi lagyi yah rachna...lay kee pahchan hai aap men

    उत्तर देंहटाएं
  4. देशप्रेम के जज्बे से ओतप्रोत बेहतरीन रचना.

    उत्तर देंहटाएं
  5. आपके देश के प्रति इस दृष्टिकोण ने मन मोह लिया ..शुक्रीया

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत सुन्दर भावपूर्ण देशभक्ति की रचना..

    उत्तर देंहटाएं
  7. अपने प्यारे देश भारत को समर्पित सुन्दर कविता.

    उत्तर देंहटाएं
  8. जहाँ सूरज की लाली है,
    जहाँ चंदा की बाली है,
    जहाँ मेंहंदी चूड़ी पायल,
    जहाँ बिंदिया साड़ी काजल,
    जहाँ पंछी भी इतराएँ,
    जहाँ नदियाँ भी बलखायें,
    जहाँ मंदिर भी मस्जिद भी,
    जहाँ गिरिजा भी गुरूद्वारे भी,
    जहाँ पूजी जाये गंगा,
    जहाँ लहराए तिरंगा,
    जो लगे जान से प्यारा,
    है ऐसा देश हमारा......................

    देश की शान में बड़ी ही खूबसूरती से तराशी गयी ये पंक्तियाँ सहज ही मन में देश भक्ति की भावना पैदा करती हैं !
    संध्या जी,
    इस सुन्दर कविता के लिए मेरी बधाई स्वीकार करें !
    -ज्ञानचंद मर्मज्ञ

    उत्तर देंहटाएं
  9. इस कविता की प्रत्येक पंक्ति देश प्रेम . हमारे देश की महानता और संस्कृति का परिचय करवाती है ...शुक्रिया संध्या जी

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत सुन्दर भावपूर्ण देशभक्ति की रचना| धन्यवाद|

    उत्तर देंहटाएं
  11. देश को समर्पित सुन्दर कविता, बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  12. आज राष्ट्रगीत कहाँ लिखे जा रहे हैं... अच्छा लगा... बढ़िया गीत है..

    उत्तर देंहटाएं
  13. देशभक्त से ओत-प्रोत बहुत सुन्दर रचना लिखी है आपने।
    मेरे जन्मदिन पर शुभकामनाएँ व्यक्त करने के लिए आपका धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  14. @संजय भास्करजी
    @स्वप्निल कुमार 'आतिश'जी
    @सुशील बाकलीवालजी
    @ केवल राम जी
    @Kailash C Sharma जी
    @ Kunwar Kusumesh जी
    @ सतीश सक्सेना जी
    @ ज्ञानचंद मर्मज्ञ जी
    @ Patali-The-Village जी
    @ Sunil Kumar जी
    @ अरुण चन्द्र रॉय जी
    @ डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" जी
    आप सबकी ह्रदय से आभारी हूँ , आपने मुझे प्रोत्साहित किया ...यूँ ही अपना मार्गदर्शन देते रहना ताकि और भी प्रगति कर पाऊं ....आप सबका धन्यवाद .डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" जी आपको मेरे ब्लॉग से जुड़ने के लिए बहुत - बहुत धन्यवाद..आपका हमारे साथ जुड़ना हमारे लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है, यूँ ही साथ रहिएगा....आप सभी ने हमेशा मेरा उत्साहवर्धन किया है, और हमेशा ऐसी ही उम्मीद रखती हूँ...बहुत - बहुत धन्यवाद आपका.

    उत्तर देंहटाएं
  15. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  16. फ़िर से यही नज़ारा हो... बस ऐसा ही हमेश भारत देश हमरा हो...
    बेहतरीन रचना...

    उत्तर देंहटाएं
  17. deshbhakti ke ras me nahayi aapki is rachna ne man me hilor utha di hai .......ek nayi umang jaga di hai .....desh bhakti ki .....
    jai hind

    उत्तर देंहटाएं
  18. देश प्रेम का उतसाह जगाती सुन्दर कविता। जै हिन्द।

    उत्तर देंहटाएं
  19. @ पूजा जी
    @ amrendra "amar" जी
    @ निर्मला कपिला जी - "जय हिंद"
    आप सबकी ह्रदय से आभारी हूँ , आपने मुझे प्रोत्साहित किया ...आपकी ये टिप्पणियाँ मेरे लिए अनमोल हैं...

    उत्तर देंहटाएं
  20. हमारा भारत महान

    धन्यवाद
    http://unluckyblackstar.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  21. @ OM KASHYAPji
    आपका आभार ...आप अपना मार्गदर्शन यूँ ही बनाये रखना ....शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  22. एक आकर्षक ब्लॉग ..में सार्थक लेखन ...हार्दिक शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  23. kam shabdon me bharatiy sanskriti k kayi pahluo ko samet liya aapne, sunder rachna, Jai Hind

    उत्तर देंहटाएं